100+ Best Short Stories In Hindi – नैतिक शिक्षाप्रद कहानियाँ

admin
12 Min Read

Short Stories In Hindi : दोस्तो यह बात बिलकुल सही है की हम सब बचपन में अपने माता-पिता, नाना-नानी या फिर दादा-दादी, से बहुत सारी कहानियां सुनकर बड़े हुए हैं। और आजकल बच्चों के लिए नैतिक शिक्षा वाली कहानियां ही वो माध्यम हैं जिससे उन्हें शिक्षा के साथ प्रेरणा भी मिलती है, भविष्य में एक बेहतर इंसान बनाने में मदद करती है।

आज हम आपके लिए लाए हैं बेहतरीन Short Stories In Hindi (शॉर्ट स्टोरी इन हिंदी) जिसे पढ़ के आप आप बहुत अच्छा लगेगा यह कहानी शॉर्ट स्टोरी कहलाती है जो छोटे बच्चों के लिए लिखे गए होती है आप इसे अपने बच्चों को करते हैं सुन सकते हैं।

Short Stories In Hindi

Short Stories In Hindi कहानियों का मुख्य उद्देश्य होता है कि व्यक्ति जीवन की हर मुश्किलों का सामना कर सके, दोस्तो ये कहानियाँ सामाजिक, आर्थिक, और व्यक्तिगत स्तर को शयन में रख कर लिखी जाती है ताकि समाज में रहने वाले लोग परिस्थिति को समझ सके।

सभी प्यारे दोस्तो तो फिर बिना किसी देरी के चलिए पढ़ते है वह सभी शार्ट स्टोरी इन हिंदी जिसे पढ़कर आपको ज़रूर से आनंद प्रदान होगा।

1. Short Stories In Hindi मेहनत का फल

एक समय की बात है, एक छोटे से गाँव में एक छोटा सा लड़का रहता था जिसका नाम राज था। राज बहुत ही सामान्य और आम था, लेकिन उसमें एक अद्भुत सोच थी। उसका सपना था कि वह एक दिन बड़ा आदमी बनेगा और अपने गाँव का नाम रोशन करेगा।

Short Stories In Hindi

राज के पास बहुत ही कम समय था, लेकिन उसने कभी हार नहीं मानी। उसने मेहनत और संघर्ष से भरा जीवन बिताया। उसने अपने लक्ष्य की प्राप्ति के लिए दिन-रात काम किया और कभी भी अपनी मेहनत में कमी नहीं की।

एक दिन, राज का सपना साकार हुआ। उसने अपनी कठिनाईयों को पार करके एक बड़े उद्यमी बन गया और अपने गाँव का नाम रोशन किया। उसकी मेहनत और संघर्ष ने उसे उसके लक्ष्यों तक पहुँचाया।

कहानी की सिख

इस कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि हालात जैसे भी हों, अगर हमारी मेहनत में सही दिशा और सही दृष्टिकोण हो, तो हम किसी भी मुश्किल को पार कर सकते हैं। महत्वपूर्ण है कि हम अपने सपनों का पीछा करते रहें और कभी भी हार नहीं मानते।

2. Short Stories In Hindi :घमंडी शेर और मच्छर की कहानी

Short Stories In Hindi दोस्तो जंगल का राजा होने की वजह से शेर को बड़ा घमंड होता है वह खुद को सबसे शक्तिमान समझता है। इसलिए, जंगल के हर जानवरों पर अपना डर जमाता रहता था. जंगल के जानवर भी क्या करते? जंगल के सभी जानवर ना चाहते हुए भी शेर के सामने अपना सर झुकाते थे क्योंकि अपने प्राण सबको प्यार होते हैं।

Short Stories In Hindi

एक दिन जब शेर आराम से सो रहा था तभी वहां पर एक मच्छर आया और आजू बाजू में आकर गुनगुना रहा था मच्छर की आवाज से शहर की नींद उड़ गई और शेर बोल यह मच्छर तू देख नहीं रहा है मैं सो रहा हूं यहां से भाग जाओ वरना मैं तुम्हें मसाला दूंगा।

शेर की बात सुनकर मच्छर बोला, “क्षमा करें वनराज, में मानता हु की मेरे कारण आपकी नींद में व्यवधान उत्पन्न हुआ. किंतु, आप मुझे ये बात नम्रता से भी कह सकते हैं। क्योंकि में भी इस धरती का जीव हूँ.”

मच्छर की यह बात सुनकर शेर गुस्से हो गया और बोला “अच्छा, तो तू छोटा सा साधारण मच्छर मुझसे जुबान लड़ाएगा. और वैसे भी क्या गलत कहा मैंने? तुम मच्छर हो ही ऐसे छोटे से मच्छर कोई भी तुम्हें यूं मसल दें. क्या बिगाड़ लोगे तुम मेरा?” मैं तो ये बार-बार कहूंगा।

मच्छर को शेर की ऐसी बात और गंदा व्यवहार बहुत बुरा लगा. फिर मच्छर वहां पर तो चुप रहा लेकिन अपने साथी मच्छरों के पास गया और उन्हें शेर की सारी बाते बताई. सभी मच्छरों को शेर की बात चुभ गई। आखिरकार उन्होंने तय किया कि इस विषय में एक बार सब मिलकर शेर से बात करेंगे.

मच्छरों के सभी ग्रुप ने मिलकर यह फैसला किया और सभी मच्छर शेर के पास पहुँचे और बोले, “वनराज, हमें आपसे बात करनी है। फिर शेर बोला “जल्दी बोलो, मुझे तुम जैसों से बात करने की फ़ुर्सत नहीं है. मच्छर बोला.

वनराज, आप होंगे बहुत शक्तिशाली. किंतु, इसका अर्थ ये कतई नहीं है कि आप अन्य जीवों और प्राणियों का मज़ाक उड़ायें या उन्हें नीचा दिखाएं।

सभी मच्छर ने मिलकर शेर को यह बताया और शेर ने जवाब दिया मैं सच कहा है और इस बात का मुझे कोई घमंड नहीं है मैं जंगल का सबसे शक्तिशाली जानवर हूं और मैं किसी को भी हरा सकता हूं मुझे हरे ऐसा कोई जानवर पैदा नहीं हुआ है।

शेर की ऐसी बात सुनकर मच्छर भी चुप न रहे मच्छर बोले तो हममें भी इतना सामर्थ्य है कि आवश्यकता पड़ने पर हम किसी का भी सामना कर सकते हैं हम आपको भी हरा सकते हैं तो कृपया हमारे सामने धैर्य से बात करें और जरूरत पड़ी तो हम आपको भी हरा सकते हैं।

शेर बड़ा ही घमंडी था यह सुनकर शेर हँसते हुए बोला, तुम लोगों की इतनी हिम्मत बढ़ गई कि मेरे सामने आकर ये बात कहो. क्या तुम्हे मेरी शक्ति का अंदाज़ा नहीं है? अभी भी तुम्हारे पास समय है, भाग जाओ यहाँ से, नहीं तो कोई नहीं बचेगा।

शेर की ऐसी घमंडी बातें सुनकर सारे मच्छरों ने यह तय कर लिया कि चाहे कुछ भी हो जाए शेर को मजाक रख कर ही रहेंगे फिर सारे मच्छर एक हो गए और शेर को सभी तरफ से काटने लगे सभी जगह से काटने की वजह से शेर को बहुत दर्द हुआ और वह मच्छरों का सामना नहीं कर पाया। इतने सारे मच्छरों का सामना करना उसके बस के बाहर हो गया.

शेर को बहुत दर्द हो रहा था क्योंकि मच्छरों ने उसे जगह-जगह काट लिया था शेर जहां भी भी जाता है मच्छर उनके पीछे भाग थे और उनको काटने लगते हैं आखिरकार शेर ने हार मान ली और मच्छरों के सामने गिर घिड़ाने मुझसे गलती हो गई, जो मैंने तुम्हें तुच्छ समझकर तुम्हारा मज़ाक उड़ाया लगा कि मुझे बक्ष दो मैं हार गया।

कहानी की सिख

घमंड करना आज ही छोड़ दो, एक दिन ये तुम्हें ले डूबेगा. और कभी जिन्दगी में किसी भी प्राणी को नीचा मत समझो, हर किसी का अपना सामर्थ्य और शक्ति होती है।

3. Short Stories In Hindi सफलता का रहस्य

Short Stories In Hindi एक समय की बात है, एक छोटे से गाँव में एक छोटा सा लड़का रहता था। उसका नाम अर्जुन था। अर्जुन का सपना था कि वह एक दिन बड़ा आदमी बनेगा और अपने परिवार का नाम रोशन करेगा।

Short Stories In Hindi

अर्जुन का मार्ग कठिन था, लेकिन उसने कभी हार नहीं मानी। उसने अपनी मेहनत और संघर्ष से किसी भी समस्या का सामना किया। उसने जीवन की हर मुश्किल को एक अवसर में बदल दिया।

एक दिन, एक बड़ा सा गाँव में स्कूल का आयोजन हुआ। इस अवसर पर, गाँव के सभी बच्चे अच्छे प्रदर्शन करने के लिए प्रतिस्पर्धा में भाग लेने के लिए उत्सुक थे।

अर्जुन ने भी इस प्रतियोगिता में भाग लिया। उसने अपनी मेहनत, आत्मविश्वास, और सहयोगी दृष्टिकोण से जीत हासिल की। उसका परिवर्तन न केवल उसके लिए बल्कि पूरे गाँव के लिए एक प्रेरणा स्रोत बन गया।

अर्जुन की मेहनत और संघर्ष ने उसे उच्च स्तरीय शिक्षा प्राप्त करने का मौका दिया। उसने अपने सपनों को पूरा करने में सफलता प्राप्त की और उसने अपने परिवार का नाम रोशन किया।

कहानी की सिख

इस कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि किसी भी मुश्किल का सामना करने के लिए मेहनत, संघर्ष, और सहयोग बहुत महत्वपूर्ण हैं। हार नहीं मानना और सकारात्मक दृष्टिकोण बनाए रखना हमें सफलता की ऊँचाइयों तक पहुँचा सकता है।

4. आलसी गधे की कहानी

Short Stories In Hindi रामपुर नाम के गांव में एक बड़ा सा व्यापारी रहता था उसके पास एक गधा था व्यापारी हर रोज अपने दुकान के लिए अपने पास पड़ा सारा नमक अपने गोदाम से ले जाता था गोदाम से नमक ले जाने के लिए वह व्यापारी गधे का इस्तेमाल करता था वह नमक की बुरी भरकर गधे की पीठ पर रखता है और उसे अपने गोदाम से दुकान तक हर रोज ले जाता।

Short Story In Hindi

व्यापारी का गधा बहुत ही आलसी था का काम से बचने के लिए हर रोज वह नए-नए तरीके सोचता था गोदाम से दुकान तक दुकान के रास्ते में एक नदी भी आती थी जिस पर एक छोटा सा लकड़ी का पुल बना एक दिन अचानक ऐसा हुआ कि गधे का पर कीचड़ में फस गया और वह नदी में गिर गया।

गधे का पर कीचड़ में फंसा हुआ था और उसके पीठ पर नमक की बोडिया थी व्यापारी उसको बाहर निकलता इतने में बहुत देर हो गई क्योंकि गधे की पीठ के ऊपर नमक था और वह जैसे ही पानी में गिरा तो ज्यादातर नमक पानी में पिघल गया।

नदी के पानी से नमक से भारी ज्यादातर बुढ़िया भीगी हो गई जब व्यापारी ने अपने गधे को पानी से बाहर निकाल तब बोरी में भरा हुआ जो नमक था वह ज्यादातर पिघल गया और जब गढ़ा रोड पर चलने लगा तो उसको यह एहसास हुआ की बहुत वजन कम हो गया है और वह बहुत खुश हो गया।

गधे की पीठ से जो वजन कम हो गया वह उसे बहुत खुश हुआ और मन ही मन सोचने लगा कि यह काम मुझे हर रोज करना है मुझे हर रोज पानी में नमक की बोरी को डूबा देना है ताकि मेरे पीठ से वजन कम हो जाए। उसके बाद से वह हर रोज़ ऐसा ही करने लगा.

अब यह गधा हर रोज यही करने लगा और यह बात व्यापारी को अच्छे से समझ में आ गई और उसका धंधे में भी बहुत बड़ा नुकसान हो रहा था इसीलिए व्यापारी ने एक उपाय सोचा और उपाय सोचने के बाद उसको लगने लगा कि शायद मेरा गधा मेरे इस उपाय से सुधर जाए।

व्यापारी ने आखिरकार उसने गधे को सबक सिखाने का फ़ैसला कर लिया और अगले दिन बोरी में नमक की जगह पर रूई भरकर गधे की पीठ पर रख दी।

Moral Stories in Hindi For Class 5 : तीन चोर की शिक्षाप्रद कहानी

Great Moral Story In Hindi 2024 : अहंकार छोड़िये और सीखना शुरू कीजिए

अगर देखा जाए तो नमक से हुई बहुत ही हल्की थी इसके बावजूद भी आलसी गधा मन में सोच रहा है कि अगर मैं आज भी नदी में जानबूझकर गिर जाओ तो यह वजन भी काम हो जाएगा और यह सोचकर वह नदी में गिर पड़ा

लेकिन व्यापारी का किया हुआ उपाय इस बार गधे को भारी पड़ने वाला था। बोरी में नमक नहीं बल्कि रुई थी. और पानी में भीगकर रुई का वजन कई गुना ज्यादा बढ़ गया. गधा जब उठकर चलने लगा तो इतने भारी बोझ से उसका बुरा हाल हो गया. फिर उस दिन के बाद गधे ने सोच लिया की कभी में आलस नही करूंगा। उसने कभी आलस न करने का निर्णय किया.

कहानी की सिख

दोस्तो आलस का फ़ल देर से सही पर कभी न कभी मिल ही जाता है. और एक ही उपाय हर बार कारगर सिद्ध नहीं होता.

5. दो मित्र और भालू

दो दोस्त एक घने और हरे भरे जंगल से गुजर रहे थे। अचानक से उन्होंने देखा कि एक बड़ा सा डरावना भालू उनकी तरफ चला आ रहा है तो उनमें से एक बिना कुछ बताए और बोले तुरंत ही ऊँचे से वृक्ष पर चढ़ गया और छुप गया। परन्तु दूसरे दोस्त को कुछ पता ना होने की वजह से कुछ समझ नहीं पा रहा था कि क्या करे और क्या न करे।

वह अकेला ही किसी असहाय सा वही के वही खड़ा रह गया। तब उसे अपने शिक्षक द्वारा पढ़ाया गया एक सबक याद आया कि हमेशा भालू मरे हुए आदमी का शिकार नहीं करता। वह बिल्कुल एक मरे हुए व्यक्ति की तरह जमीन पर साँस रोककर सीधा लेट गया।

भालू कुछ देर बाद उसके पास आया और उसे सूंघकर बिना कुछ किए वहां से निकल गया। थोड़ी देर बाद उसका मित्र पेड़ से नीचे उतरकर आया और उससे पूछने लगा।

मित्र, भालू तुम्हारे पास आया फिर तुम्हारे कान में क्या बुदबुदाया? उसने उत्तर दिया, भालू ने कहा कि संकट की घड़ी में जो भाग जाए वह सच्चा मित्र नहीं होता।

कहानी की सिख

संकट की घड़ी में जो भाग जाए वह सच्चा मित्र नहीं होता।

6. Short Stories In Hindi आलस के नुकसान

एक समय की बात है, एक गाँव में एक छोटा सा बच्चा था जिसका नाम राहुल था। राहुल बहुत ही आलसी था और उसे किसी काम में रुचि नहीं थी। उसके माता-पिता ने बार-बार उससे कहा कि वह कुछ सीखने और काम करने में अपना समय बिताएं, लेकिन राहुल कभी सुनता ही नहीं था।

एक दिन, गाँव में एक सभा हुई जिसमें एक बुद्धिमान गुरु ने बच्चों को जीवन के महत्वपूर्ण सिख देने का निर्णय किया। राहुल भी सभा में शामिल हुआ।

गुरु ने बच्चों से एक खेती से जुड़ी कहानी सुनाई। गुरु ने कहा, “एक बार एक किसान ने अपने खेत में बोने बीजों की देखभाल करते हुए देखा कि कुछ बीज तुरंत उग जाते हैं, जबकि कुछ बीज धीरे-धीरे बढ़ते हैं।”

गुरु ने जारी रखा, “जैसा कि बीजों के साथ होता है, वैसा ही जीवन में भी होता है। जब हम दिनभर काम करते हैं और मेहनत करते हैं, तो अगले दिन हमारा अनुभव सीधे फलित होता है।”

राहुल ने गुरु के शब्दों से सीखा कि मेहनत, समर्पण, और सही दिशा में प्रयास से ही सफलता मिलती है। उसने अपने आलसी पन को छोड़कर कुछ सीखने और कुछ करने का निर्णय लिया। उसने मेहनत और उत्साह के साथ अपने लक्ष्यों को हासिल किया और एक सफल जीवन बनाया।

कहानी की सिख

कहानी का सिक्षा यह है कि हमें आलस्य को छोड़कर मेहनत में समर्पित रहना चाहिए, क्योंकि जीवन के रूप में हमें समय के साथ सीधे फलस्त्रोत होते हैं।

7. Short Stories In Hindi सफलता के लिए साहस

Short Stories In Hindi एक समय की बात है, गाँव के एक छोटे से लड़के का नाम आदित्य था। आदित्य बहुत ही आलसी और कामचोर था। उसे हमेशा अपने दोस्तों के साथ खेतों में खेलना अच्छा लगता था, लेकिन काम करने में उसकी रुचि कम थी।

एक दिन, गाँव में एक पुराना पेड़ गिर गया। गाँववाले ने मिलकर तय किया कि उस पेड़ को काटकर उसका उपयोग करें। लेकिन वो सभी लोग बहुत ही व्यस्त थे और किसी को भी समय नहीं मिला कि वह पेड़ को काटें।

आदित्य ने यह सभी देखा और उसने सोचा, “मैं इसे काट सकता हूँ और इससे लकड़ी निकालकर कुछ अच्छा काम कर सकता हूँ।” उसने अपने दोस्तों को छोड़कर काम पर लग गया।

आदित्य ने मेहनत करते हुए पेड़ को काटा और उससे लकड़ी निकाली। फिर उसने उस लकड़ी से एक सुंदर सा मुद्दा बनाया और उसे गाँव के चौक में रखा।

लोगों ने देखा और आश्चर्यचकित होकर पूछा, “तुमने यह कैसे किया?” आदित्य ने हंसते हुए कहा, “मेहनत और संघर्ष से कुछ भी मुमकिन है।”

कहानी की सिख

इस कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि मेहनत और संघर्ष से ही हम सफलता की ऊँचाइयों को छू सकते हैं। आदित्य ने अपनी आलसी आदतों को छोड़कर अपने क्षमताओं का सही उपयोग किया और अच्छे नतीजे प्राप्त किए।

Conclusion

Short Stories In Hindi कहानी से लोगों को अलग अलग प्रकार की सिखें मिल सकती हैं, जो उन्हें जीवन में आगे बढ़ने और मार्गदर्शन करने में मदद करती हैं। हमे आशा है कि हमारे द्वारा लिखी गई कहानी आपको पसंद आएगी।

Share this Article
Leave a review