Motivational Story In Hindi:- स्वप्न देखने वाला पुजारी

admin
4 Min Read

Motivational Story In Hindi बहुत समय पहले एक गांव में पुजारी रहता था जो जरूरत से ज्यादा ही आलसी और गरीब हुआ करता था। वह कोई मेहनत नहीं करना चाहता था और बिना मेहनत किए उसका एक बहुत बड़ा सपना था की एक दिन वह बहुत बड़ा अमीर बनेगा।

अगर देखा जाए तो यह पुजारी भिक्षा मांगकर अपना भोजन प्राप्त करता था। भिक्षा मांगते हुए एक दिन सुबह उन्हें भिक्षा में दूध का एक नया बर्तन मिला। वह अत्यंत प्रसन्न हुआ और दूध का बर्तन लेकर घर चला गया। घर पहुंच कर उसने दूध उबाला, थोड़ा सा पिया और बचा हुआ दूध एक बर्तन में रख दिया। ताकि दूध दही में बदल सके, उसने बर्तन में हल्का दही मिलाया जिसकी मदद से जल्दी सारा दूध दही में परिवर्तन हो जाए।

Motivational Story In Hindi:- स्वप्न देखने वाला पुजारी

इतना काम करने के बाद फिर वह सोने के लिए लेट गया। फिर सोते हुए सोचने लगा कि, अगर वह किसी तरह अमीर बन जाए तो उसके सारे दुख दूर हो सकते हैं। उसका ध्यान उस दूध के बर्तन की ओर गया जिसे उसने दही बनाने के लिए रखा था।

मोटिवेशनल स्टोरी हिंदी स्वप्न देखने वाला पुजारी

उसने सपना देखा; 

  1. सुबह तक दूध का बर्तन जम जाएगा।
  2. वह दही में बदल जाएगा।
  3. मैं दही को मथूंगा और उससे मक्खन बनाऊंगा।
  4. मैं मक्खन को गर्म करूंगा और उससे घी बनाऊंगा।
  5. फिर मैं उस बाजार में जाऊंगा और उसे बेचूंगा।
  6. घी बेच कर बहुत पैसा कमाऊंगा।
वह पुजारी इतना आलसी हुआ करता था वो सोचने लगा में शहर का सबसे बड़ा अमीर इंसान बन सकता हु। घी बेच कर में उस पैसे से मुर्गी खरीदूंगा।
  1. उस पैसे से मैं एक मुर्गी खरीदूंगा।
  2. मुर्गी अंडे देगी जिससे बच्चे निकलेंगे
  3. बहुत सारी मुर्गियां होंगी।
  4. ये मुर्गियां सैकड़ों अंडे देंगी।
  5. मेरे पास जल्द ही एक पोल्ट्री फार्म होगा।
  6. में अपनी मुर्गीपालन की सभी मुर्गियाँ बेच दूँगा।
  7. कुछ गायें खरीद लूँगा।
  8. और दूध की डेयरी खोल लूँगा।
  9. शहर के सभी लोग मुझसे दूध खरीदेंगे।

कुछ इस प्रकार मैं बहुत अमीर हो जाऊँगा और जल्द ही मैं गहने खरीदूँगा। और फिर राजा मुझसे सारे गहने खरीद लेंगे। मैं इतना अमीर हो जाऊंगा कि एक अमीर परिवार की बेहद खूबसूरत लड़की से शादी कर सकूंगा।

इसके बाद वह सोचने लगा कि जल्द ही मेरा एक सुंदर बेटा होगा। अगर उसने कोई शरारत की तो मैं बहुत क्रोधित होऊंगा और उसे पढ़ाऊंगा उसे सबक सिखाओ, मैं उसे एक बड़ी छड़ी से मारूंगा।

इस सपने के दौरान, उसने अनजाने में अपने बिस्तर के बगल में लकड़ी उठाई और यह सोचकर कि वह अपने बेटे को मार रहा है, लकड़ी उठाई और बर्तन पर दे मारी। दूध का बर्तन टूट गया और वह अपने दिवास्वप्न से जाग उठा।

Moral Of The Story

शिक्षा: कड़ी मेहनत का कोई विकल्प नहीं है। बिना मेहनत के सपने पूरे नहीं हो सकते

Share this Article
1 Review