Motivational Story In Hindi – जीवन बदलने वाली कहानी

admin
5 Min Read

Motivational Story In Hindi हम सभी अपनी लाइफ में खुश रहना चाहते हैं और कोशिश भी करते हैं कि हमेशा खुश रहें। पर क्या ऐसा हो पाता है? एक छोटी से प्रेरक कहानी मैं आपके साथ शेयर करूँगा जिसमें हमेशा खुश रहने का राज़ छिपा है आप जान जाएंगे कि हमेशा खुश कैसे रह सकते हैं।

एक समय की बात है, एक गांव में एक महान साधु आए हुए थे सभी लोग अपनी मुश्किलों और अलग अलग परेशानियां लेकर उनके पास आते थे उन सभी मुश्किलों का समाधान पाने के लिए और साधू महाराज सभी को उचित मार्गदर्शन करते थे।

Motivational Story In Hindi जीवन बदलने वाली कहानी

Motivational Story In Hindi एक दिन एक दुखी और लाचार सा दिखने वाला व्यक्ति उन साधु के आश्रम में उनके दर्शन करने के हेतु से आया। उस ने उन साधु से एक सवाल करते हुए कहा,

  • गुरुदेव ,मैं यह जानना चाहता हूँ कि हमेशा खुश रहने का राज़ क्या है?

साधु महाराज थोड़ी देर शांत रहें और फिर बोले तुम मेरे साथ चलो आज मैं तुम्हें खुश रहने का राज़ बताता हूँ।

Motivational Story In Hindi जीवन बदलने वाली कहानी

साधु महाराज की बात सुनकर वह आदमी और साधू जंगल की तरफ चलने लगे जंगल के बीच जाकर साधु ने एक बड़ा सा पत्थर उठाया और उस व्यक्ति को कहा इसे पकड़ो और अपने साथ ले कर चलो उस व्यक्ति ने पत्थर को उठाया और वह अर्शी के साथ चलने लगा।

थोड़ी ही देर के बाद उस व्यक्ति के हाथ में दर्द होने लगा और साधु से बोला महाराज और कब तक इस पत्थर को लेकर चलना होगा? महाराज बोले अभी चलते रह।

चलते हुए बहुत समय बीत गया है और उस व्यक्ति से दर्द सहन नहीं हुआ तो बोला महाराज अब दर्द सहन नहीं हो रहा है साधु ने कहा ठीक है अब इस पत्थर को नीचे रख।

पत्थर को नीचे रखने पर उस व्यक्ति को बड़ी ही राहत महसूस हुई तभी साधु ने कहा

  • साधु : यही है खुश रहने का राज़
  • व्यक्ति : गुरुदेव मैं समझा नहीं
  • साधु : पत्थर को एक मिनट तक हाथ में रखने पर थोड़ा सा दर्द होता है और इसे एक घंटे तक हाथ में रखें तो थोड़ा ज्यादा दर्द होता है और अगर इसे और ज्यादा समय तक उठाये रखेंगे तो दर्द बढ़ता जाएगा।

उसी तरह दुखों के बाहर को जीतने ज्यादा समय तक उठाते रहेंगे तो उतने ही ज्यादा समय हम दुखी और निराश रहेंगे।

यह हम पर निर्भर करता है कि हम दुखों के बोझ को एक मिनट तक उठाएं रखते हैं या उसे जिंदगी भर अगर तुम खुश रहना चाहते हो तो इस दुख रूपी पत्थर को जल्दी से जल्दी नीचे रखना सीख लो और हो सके तो उसे उठाओ ही नहीं।

Short Motivational Story In Hindi

हमारे जीवन में दुःख भी एक बार की तरह है जब भी और जितना भी हम अपने बीते हुए दुखी पल को याद करते रहेंगे उतना ज्यादा दुख मिलेगा ऐसी बाते हमारे मन में आत्मा के अंदर बैठे रहते है और हमें दुखी करते रहते हैं।

Motivational Story In Hindi  यहां पढ़े
Short Stories In Hindi  यहां पढ़े
Moral Stories In Hindi  यहां पढ़े
Home Page  यहां पढ़े
दुखी और लाचार लड़के की कहानी  यहां पढ़े

इसलिए बिना मतलब की बातों को अपने मन से निकाल दो चीजों के बारे में नकारात्मक सोचना बंद करो नहीं तो यह नकारात्मक विचार आपके मन में आते रहेंगे और आप इस बार से दुखी होते रहेंगे।

जब आप इस दुख और अपने अंदर से निकाल देंगे तो सदा लाइट रखेंगे, आनंद में रहेंगे याद रखें प्रसन्नता स्वास्थ्य देती है जबकि दुख रोग देते हैं। ऐसी ही मजेदार पोस्ट आप गूगल के माध्यम से पढ़ सकते है।

दोस्तो संघर्ष से भरा जीवन का सफ़र अंत में हमेशा विजय का मिठा फल लेकर आता है। संघर्ष की राहों में आने वाली चुनौतियों ने हमें अपनी असली शक्ति का अहसास कराया। Motivational Story In Hindi पोस्ट का सबक है हार नहीं मानना, क्योंकि जीत सिर्फ वहाँ है जहाँ हार नहीं मानी जाती।

Share this Article
1 Review