Motivational Story In Hindi – हिम्मत करो सफलता जरूर मिलेगी

admin
6 Min Read

Motivational Story In Hindi दोस्तों, हमारी जिंदगी में कई बार हम खुद को एक मुश्किल घड़ी में पाते हैं, कई बार हमें बड़े फैसले लेने पड़ते हैं, लेकिन हमें यह नहीं पता होता है की वो सही है या गलत। क्या उस फैसले का परिणाम हमारे जीवन में खुशियां लाएगा या नहीं?

साथ ही कई बार हमारे पास सही निर्णय लेने की सुझाव नहीं होते और हम जल्दबाजी में फैसला कर लेते हैं और उन फैसलों की वजह से हमारी जिंदगी नरक से भी बढ़कर हो सकती हैं। इसलिए सही फैसला लेने की क्षमता हमारे जीवन में सफलता हासिल करने के लिए आवश्यक है।

तो चलिए आज के इस पोस्ट Motivational Story In Hindi बोध कहानी के माध्यम से जानते हैं कि जीवन में सही फैसले कैसे ले जाये और यह भी कि सही निर्णय लेने के तरीके क्या होते है?

Motivational Story In Hindi हिम्मत मत हारो

Motivational Story In Hindi एक बार बुद्ध अपने शिष्य आनंद के साथ यात्रा कर रहे थे, वह थक गए थे। वह सूर्यास्त से पहले अगले शहर पहुंचना चाहते थे तो तेजी से चलने लगे। लेकिन बुद्ध बूढ़े हो गए थे और आनंद स्वयं बुद्ध से उम्र में बड़े थे।

Motivational Story In Hindi

उन्हें चिंता थी अगर उन्हें रात के लिए जंगल में रुकना पड़ा तो वे पास के शहर तक नहीं पहुंच पाएंगे। इसलिए उन्होंने अपनी यात्रा जारी रखी। रास्ते में उन्होंने खेत में काम कर रहे हैं। एक बूढ़े किसान से पूछा शहर कितनी दूर है?

बूढ़े आदमी ने कहा,

  • बहुत दूर नहीं है चिंता मत करो यह अधिक से अधिक दो मील ही है।
  • तुम पहुँच जाओगे बुद्ध मुस्कुरा पड़े बूढ़ा इंसान भी बुद्ध को देखकर मुस्कुरा पड़ा आनंद समझ नहीं पाए कि क्या हो रहा है?

दो मील बीत गए अभी भी कोई शहर नहीं आया और वह अधिक थकने लगे थे। थोड़ा आगे बढ़ने पर उन्होंने देखा एक बूढ़ी औरत लकड़ी इकट्ठा कर रही है।

आनंद उससे पूछते हैं,गांव कितनी दूर है?

  • और वे कहती हैं, दो मील से अधिक नहीं।
  • आप लगभग पहुँच चूके हैं, चिंता ना करे।

बुद्ध उनकी बात सुनकर हंस पड़े और बुद्ध को देखते ही बूढ़ी औरत भी हंस पड़ीं आनंद दोनों को देखकर कहते हैं यह हँसी क्यों है?

और दो मील के बाद भी कोई शहर नहीं है, फिर वे अपनी यात्रा जारी रखते हैं और उन्हें रास्ते में तीसरा आदमी मिलता है। फिर वही प्रश्न और वही जवाब आनंद अपना झोला गिरा देते हैं और कहते हैं।

अब में और नहीं चल सकता हु मैं बहुत थक गया हु ऐसा लगता है कि हम कभी भी इन दो मील को पार नहीं कर पाएंगे।

तीन बार हमने विश्वास किया लेकिन एक सवाल मेरे मन में लगातार उठ रहा है। आनंद बहुत लंबे समय तक बुद्ध के साथ थे और वह इस बात से भली भांति परिचित थे कि उन्हें बुद्ध से वही पूछना चाहिए जो पूछना जरूरी है।

आनंद ने बुद्ध से पूछा, अगर यह अनावश्यक या आवश्यक है, मुझे परवाह नहीं है, लेकिन क्या आप मेरी एक शंका को दूर कर सकते है?

जब उस बूढ़े आदमी ने कहा दो मील बस दो मील तुम्हें इससे अधिक नहीं जाना है तो आप क्यों हँसे और फिर आप उस बूढ़ी औरत के साथ हंसे और वह भी मुस्कुराई और फिर तीसरे व्यक्ति के साथ भी वही हुआ, ये कैसी हसी थी?

आप उन्हें नहीं जानते, वो आपको नहीं जानते आप लोगों के बीच क्या चल रहा था? बुद्ध ने कहा, हमारा काम एक ही है मैं हंसा तो वहाँ से वह समझ गए कि यह आदमी उसी तरह के पेशे से संबंधित है।

जहाँ आपको लोगों को प्रोत्साहित करते रहना होता है। बस दो मील बस थोड़ा और उन्होंने कहा, मैं पूरी जिंदगी से यही कर रहा हूँ। लोग आखिरकार अपनी मंजिल तक पहुँच ही जाते हैं।

लेकिन अगर आप उन्हें शुरू से ही 15 मील बता दें तो तुम वहीं गिर पढ़ोगे लेकिन दो मील और दो मील से मैं 200 मील पार कर जाएंगे।

Motivational Story In Hindi  यहां पढ़े
Short Stories In Hindi  यहां पढ़े
Moral Stories In Hindi  यहां पढ़े
सरकारी योजना की जानकारी  यहां पढ़े
दुखी और लाचार लड़के की कहानी  यहां पढ़े

अगर हसने की बात है तो मैं उन लोगों के साथ हँसा क्योंकि मैं इस गांव को जानता हूँ मैंने इस गांव का दौरा किया है मैं जानता हूँ कि यह दो मील नहीं है, लेकिन मैं चुप रहा क्योंकि आप यह जानने के लिए उत्सुक थे कि यह कितनी दूर है। मुझे पता था कि हम नहीं पहुँच पाएंगे, लेकिन इसमें नुकसान क्या था?

Motivational Story In Hindi कहानी की सिख

जीवन की यात्रा में प्रोत्साहन देने और सकारात्मक दृष्टिकोण बनाए रखने के लिए सामूहिक प्रयास चुनौतियों को आसान बना देता है।

वर्तमान पर ध्यान केंद्रित करके आशा और हिम्मत को अपनाकर व्यक्ति आगे आने वाली अनिश्चितताओं की परवाह किए बिना पद पर बने रहने के लिए ताकत पा सकता है।

दोस्तो हमे आशा है की Motivational Story In Hindi पोस्ट आपको पसंद आई होगी और इस पोस्ट के माध्यम से आपके कुछ सीखने को मिला होगा ऐसी ही मजेदार पोस्ट पढ़ने के लिए हमारे ब्लॉग पर विजिट जरूर करे।

Share this Article
Leave a review